Some sections are still under construction

  Communalism Combat  
  - Archives  
  - Feedback  
  - Subscription  
 - Advertising
 - Other Publications
 - Combat Themes

 

  Khoj  
  - About Khoj  
  - Teaching Tolerance  
  - Khoj for Teachers  
  - History  
 - Quiz for Kids
 - Articles on Khoj

 

  Aman  
  Peacepals  

 

 

  Resources for Secularism  
  - Films  
  - Books  
  - Other Resources  
  - Peoples Tribunal on Prevention of Terrorism ACT NEW  

 

  Information  
  Contact us  
  Sabrang Team  
  About us  
  Other Publications  

 

  Our Neighbours
     Right Struggles
  -- Pakistan
  --William Dalrymple
    on Madrasas in
    Pakistan
  -- Bangladesh
  -- Sri Lanka
  -- Nepal
  -- Afghanistan
  -- Thailand
  -- Indonesia
  -- Religious Intolerance in South Asia

 

  Partner sites
 - CJP
 - PUHR
 The South Asia
   Citizens Web

 

  Sabrang Papers

  BJP – The Saffron

  Years

  Riots as Murder
 
- By Rajiv Dhavan

 

  Other Concerns
  - Tamil Migrants
  - GUJARAT
  - Struggle Against Minining MNCs  (pdf)
  - Right to Food  (pdf)
- US Religious Freedom Report  (pdf)

-  Palestinian Centre for Human Rights

 

  Events  
  - Peace Concert  
  - Presentation to the US congress  
  - Aid distribution at
  refugee camp
 

 

  Sabrang Research
  Communalism in   
  India
  Communalism in 
  Operation
(pdf)
 

December 20, 2014

Report of the 'Awami ekta divas' (Revolutionary People's unity day) organized by Naujawan Bharat Sabha (NBS) in Khajuri khas, East Delhi.

Revolutionary Remembrances outwit the RSS

Despite all efforts of the RSS and local police administration to prevent NBS from organizing 'Awami Ekta Diwas' program on the martyrdom day of Bismil, Ashfakullah, Roshan and Lahiri, the NBS unit of Khajoori, Delhi successfully organized the program and hundreds of youth, citizens and children participated in it. Revolutionary songs and a play called 'Desh ko aage badhao' were staged. The program began by observing 2 minutes of  silence for the victims of Peshawar incident. The Awami Ekta Diwas was organized to pay a revolutionary tribute to our great martyrs who laid down their lives for their country and to again revive the revolutionary spirit to ward off the communal powers from dividing the people.

Nau Jawan Bharat Sabha, Delhi

 

काकोरी के शहीदों की याद में आवामी एकता दिवस का आयोजन 

नई दिल्ली,19 दिसम्बर। देश की आज़ादी के लिए फाँसी का फंदा चूमने वाले काकोरी के शहीदों अशफ़ाक़उल्ला, रामप्रसाद बिस्मिल’ 87 वें शहादत दिवस के अवसर पर खजूरीखास की श्री राम काॅलोनी में शुक्रवार को नौजवान भारत सभा द्वारा आवामी एकता दिवस का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में सैकड़ों लोगों ने शिरकत की। कार्यक्रम में क्रांतिकारी गीतों व नाटक 'देश को आगे बढ़ाओ' की प्रस्तुति की गयी। आज जब देश भर में साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण के आधार पर वोटों की राजनीति की जा रही है और जनता को धर्म के नाम पर बाँटा जा रहा है, ऐसे में कौमी एकता के प्रतीक इन शहीदों के विचार आज भी प्रासंगिक हैं। कार्यक्रम की शुरुआत हाल ही में पाकिस्तान के पेशावर में धर्मिक कट्टरपंथ के बर्बर हमले के शिकार बने बच्चों और शिक्षकों को श्रद्धांजलि से हुई। उनकी याद में दो मिनट का मौन रखा गया। आज हर जगह ‘‘लव-जिहाद’’, ‘‘घर वापसी’’ से लेकर मंदिर-मस्जिद जैसे गैर-ज़रूरी मुद्दों को अफवाहों द्वारा फैलाया जा रहा है। ऐसे में जब दिल्ली में चुनाव दहलीज पर हैं और त्रिलोकपुरी, बवाना से लेकर दिलशाद गार्डन में चर्च जलाने की घटनाएँ यह साबित कर रही हैं कि यहाँ भी सांप्रदायिक ध्रुवीकरण के आधार पर वोटों की राजनीति शुरू हो चुकी है। खजुरी के अंदर भी आर एस एस पार्क में शाखा लगा रहे हैं और पार्क को अब हिन्दू मुस्लिम का मुद्दा बनाया जा रहा है। खुद पुलिस प्रशासन भी इन संघियों के साथ ही खड़ा है। आज का कार्यक्रम इन सघियों के मुँह पर भी जबरदस्त तमाचा था क्योंकि जब से नौजवान भारत सभा ने इस कार्यक्रम को करने की घोषणा की थी तब से संघ और प्रशासन मिलकर कोशिश कर रहे थे कि कार्यक्रम यहाँ न हो पाये।

Nau Jawan Bharat Sabha, Delhi

 

 


 

                                                                      

 
Feedback | About Us
Sabrang Communications India 2004 All rights reserved.